मैंने एक दोस्त से सुना कि हर छोटे व्यवसाय के मालिक को यह पता होना चाहिए कि बैलेंस शीट कैसे पढ़ें, क्या आप मुझे बता सकते हैं कि यह सही है और यह महत्वपूर्ण क्यों है?


#1

मैं एक बैलेंस शीट पढ़ने के महत्व के बारे में जानना चाहता हूं।


#2

हां, आपका दोस्त सही है। प्रत्येक छोटे व्यवसाय के मालिक को यह पता होना चाहिए कि बैलेंस शीट कैसे पढ़ें।

किसी भी तरह की वित्तीय सहायता करने से पहले कोई भी संस्थान आपके बैलेंस शीट के बारे में ज़रूर पूछते हैं, जिससे कि वह आपके व्यापार की योग्यता जान सकें।

बैलेंस शीट आपके व्यापार की सेहत और आपके पास मौजूद सम्पत्तियाँ और देनदारियां (लायबिलिटी) के बारे में बताता है। एक तरह से यह आपके पूरे व्यापार के बारे में जानकारी देता है।

बैलेंस शीट दो तरह की होती है: संपत्तियां और देनदारियां (पूंजी और भंडार को मिलाकर) और दोनों का कुल समान होना चाहिए।

आइए अब एक नजर डालते हैं कि इन दोनों को पढ़ना क्यों महत्वपूर्ण है:

(Non-current) संपत्तियां वह संपत्तियां होती हैं, जो एक साल के अंदर ग्रहण की जा सकें या बसाई जा सकें, जैसे ज़मीन,संपत्तियां किसी भी व्यापार के धन जमा करने की काबिलियत के बारे में बताती हैं।

(Current) संपत्तियां वह होती हैं, जिनको साल भर के भीतर नगद में बदला जा सके,जैसे इन्वेंटरी.

आपको अपने व्यापार के लिए अगर धन बढ़ाने की ज़रूरत है, तो आपको सप्लायर से खरीदा हुआ सामान बेचना होगा। अगर आपके पास रखा सामान यानी कि इन्वेंटरी आपके बिक्री से ज्यादा तेजी से बढ़ रही है, तो यह आपके व्यापार के गलत दिशा में जाने के संकेत हैं।
किसी भी व्यापार के पास पर्याप्त मात्रा में धन होना बैलेंस शीट का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है, जो आपके व्यापार में धन लगाने वालों को आकर्षित करेगा।

तात्कालिक देनदारियां वह होती हैं, जो एक साल के अंदर निपटाई जा सकती हैं, जैसे मांगने पर चुकाने वाला लोन।

गैर तात्कालिक देनदारियां वह होती हैं, जो कंपनी के द्वारा चुकाई जानी होती हैं जैसे डिबेंचर।

पिछले साल के बैलेंस शीट से तुलना करते हुए अगर आपके उधार पिछले साल से कम हुए हैं, तो यह आपके व्यापार के लिए एक अच्छा संकेत है। किसी भी व्यापार के पास अगर उसकी संपत्तियां देनदारियों(लायबिलिटी) से ज़्यादा है, तो यह बताता है कि वह व्यापार तरक्की कर रहा है।

बैलेंस शीट में अगर इंटरेस्ट और कर्ज़ चुकाने के लिए बहुत ज्यादा उधार है, खर्चों से तुलना करते हुए, तो यह एक सबसे बड़ा तरीका होता है जिससे कोई भी कंपनी दिवालिया हो सकती है।

एक व्यापारी होने के नाते आपको बैलेंस शीट पढ़ना आना चाहिए, जिससे आप अपनी व्यापार की स्थिति को समझ सकें।